गोरखपुर        महराजगंज        देवरिया        कुशीनगर        बस्ती        सिद्धार्थनगर        संतकबीरनगर       
गोरखपुर

रोजगार सृजन कर गांवों को इंटीग्रेटेड बनाए: मनोज

गोरखपुर। अपर मुख्य सचिव पंचायती राज ग्रामीण विकास एवं राजस्व विभाग मनोज कुमार सिंह ने जनपद गोरखपुर दो दिवसीय दौरे पर निर्धारित कार्यक्रम पर उन्होंने विकास भवन के मनरेगा सभाकक्ष में 14वें वित्त आयोग की संस्तुतियों के अंतर्गत निष्पादन अनुदान वित्तीय वर्ष 16-17 के अंतर्गत परफारमेंस ग्रांट के समस्त ग्राम प्रधान एवं पंचायत सचिव खंड विकास अधिकारी सहायक विकास अधिकारी पंचायत एवं जनपद स्तर से नामित नोडल अधिकारी तथा टेंडर कमेटी में नामित नोडल अधिकारी एवं विषय विशेषज्ञ तथा तकनीकी विभाग के एक्शन ग्रामीण अभियंत्रण विभाग पीडब्ल्यूडी जिला पंचायत राज अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी जिला विकास अधिकारी परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण जिलाधिकारी की संयुक्त बैठक कर योजना के बारे में विस्तृत समीक्षा की तथा समीक्षा के पूर्व पंचायती राज विभाग द्वारा चलाए जा रहे पत्रावली का गहन अध्ययन करने के उपरांत पाई गई कमियों को ठीक करने हेतु निर्देशित किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी विजय किरण आनंद, सीडीओ इन्द्रजीत सिंह समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

देश में पहली बार मनरेगा श्रमिकों को कार्यस्थल पर ही मिलेगा भुगतान

भटहट। विकासखंड भटहट अंतर्गत छितौनी ग्राम सभा एवं भटहट का सोमवार को पंचायती राज व ग्राम्य विकास के अपर मुख्य सचिव ने दौरा कर बैंक सखी द्वारा मनरेगा मजदूरों को कार्यस्थल पर पांच – पांच सौ रुपए भुगतान कर योजना प्रारंभ की है।
उत्तर प्रदेश सरकार में पंचायती राज विभाग व ग्राम्य विकास के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने गोरखपुर जिला अधिकारी विजय किरण आनंद, मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह की उपस्थिति में छितौनी में मनरेगा कार्य स्थल पहुंचकर बैंक सखी संगीता द्वारा शंकर निषाद, हरिलाल, गोविंद सहित 18 मनरेगा मजदूरों को भुगतान किया है हालाकि सर्वर थोड़ा स्लो था फिर ठीक हो गया । सचिव ने उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि ” नमस्कार मैं मनोज हूं लखनऊ से आया हूं ” प्रदेश सरकार की प्रभावी नीति से आज मजदूर ,पेंशनधारी बुजुर्ग, अक्षम ग्रामीण आदि को बैंक के चक्कर काटने नहीं पड़ेंगे सीधे अपने गांव में स्थित बैंक सखी से 24 घंटे में कभी भी पैसे निकाल सकते हैं। आज यह योजना संपूर्ण भारत में उत्तर प्रदेश में पहली बार लागू की गई है जिसका लाभ उत्तर प्रदेश की जनता को मिलेगा।
56 हजार लोग होंगे प्रशिक्षित, मिलेगा 4 हजार प्रति माह मानदेय
अपर मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश सरकार प्रत्येक ग्राम सभाओं में बैंक सखी चिन्हित कार्यक्रम को प्रभावी बनाने हेतु उनके खाते में ₹75 हजार एडवांस के तौर पर भेजा जाएगा। जिसका कुछ अंश मशीन की खरीदारी तथा शेष ₹50 हजार से प्रारंभिक भुगतान करने का कार्य किया जाएगा। इससे मनरेगा मजदूरों सहित ग्रामसभा वासियों को बैंक जाने से फुरसत मिलेगी। साथ ही 56 हजार बैंक सखी को चयनित कर मुख्यमंत्री सीधे संवाद करेंगे तथा इन्हें प्रशिक्षित कर दूरस्थ बिजनेस को बढ़ावा देने का लक्ष्य है। प्रशिक्षित बैंक सखी को 6 माह तक ₹4 हजार प्रतिमाह मानदेय भी दिया जाएगा। इस अवसर पर डीपीआरओ हिमांशु शेखर ठाकुर, बीडीओ कृतिका अवस्थी सहित प्रशासनिक अधिकारी, ग्रामवासी , मनरेगा मजदूर आदि उपस्थित रहे।

ग्राम प्रधान ने प्रधानमंत्री आवास संबंधी समस्या से कराया अवगत

विकासखंड भटहट सामुदायिक शौचालय के निरीक्षण दौरान वंदना से बात की वहीं स्थानीय ग्राम सभा के नाम में भटहट के स्थान पर भटाहट होने के कारण पिछले कई वर्षों से प्रधानमंत्री आवास का आवंटन रुका पड़ा है। इस समस्या का निस्तारण जब स्थानीय अधिकारियों द्वारा नहीं किया गया तो ग्राम प्रधान ओम् प्रकाश यादव ने आवेदन पत्र देकर अपर मुख्य सचिव से इस समस्या से अवगत कराया जिस पर प्रमुख सचिव ने समस्या को जल्द निस्तारित करने का आश्वासन दिया है।

अपर मुख्य सचिव ने सार्वजनिक शौचालय का किया निरीक्षण

बेहतर साफ-सफाई व बेहतर क्वालिटी के शौचालय बनने से ग्राम प्रधान को दिया बधाई
मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल तिनकोनिया नंबर 3 बंटागिया का भी किया निरीक्षण

चरगांवा। विकास खण्ड चरगांवा में शौचालय का ऐसा मॉडल दिया कि पूरे जिले में नजीर बन गया जिसको देखने के लिए अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने जंगल रामगढ़ उर्फ़ रजही सामुदायिक शौचालय का निरीक्षण कर पूर्व ग्राम प्रधान रणविजय सिंह उर्फ मुन्ना सिंह को धन्यवाद देते हुये यह माडल शौचालय अन्य ग्राम प्रधानों को सार्वजनिक शौचालय को बनाने के लिए प्रेरित करेगा। शौचालय के लिए शासन से तीन लाख ही मिलते हैं लेकिन ग्राम प्रधान ने अन्य स्रोतों से सार्वजनिक शौचालय को बनवाने के लिए लगभग दस लाख रुपये खर्च कर कंबोड व साधारण शौचालय तथा झरना युक्त स्नान घर सहित बेहतर क्वालिटी के टाइल्स से बनवाया गया है, यह जनपद का एकलौता सावर्जनिक शौचालय मिसाल पेस कर रहा है। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि शौचालय का लोकार्पण तो 2020 में ही कर दिया गया था लेकिन इस शौचालय का जितना चर्चा किया गया था उससे भी बेहतर शौचालय देखकर अपर मुख्य सचिव काफी पूर्व प्रधान से प्रभावित हुए अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल तिनकोनिया नंबर 3 का भी निरीक्षण कर संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिया निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी विजय किरन आनंद सीडीओ इंद्रजीत सिंह डीपीआरओ हिमांशु शेखर ठाकुर सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close