गोरखपुर        महराजगंज        देवरिया        कुशीनगर        बस्ती        सिद्धार्थनगर        संतकबीरनगर       
देश

कैप्टन ने पंजाब लोक कांग्रेस के नाम से नई पार्टी बनाई

सोनिया को सौंपा सात पेज का इस्तीफा , इस्तीफे में किया राजनीतिक सफर का जिक्र

चंडीगढ़, एजेंसी।
आखिरकार मुख्यमंत्री का पद छोड़ने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस को भी अलविदा कह दिया और
दिवाली से पहले अपनी नई पार्टी की घोषणा करके पंजाब में सियासी धमाका कर दिया है। मंगलवार को उन्होंने औपचारिक तौर पर कांग्रेस छोड़ दी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे 7 पन्नों के इस्तीफे में उन्होंने अपने पूरे सियासी सफर का जिक्र किया है। अमरिंदर ने कांग्रेस हाईकमान के साथ नवजोत सिद्धू पर भी सवाल खड़े किए।

अमरिंदर ने 18 सितंबर को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। इसके बाद ही उन्होंने कांग्रेस छोड़ने की घोषणा कर दी थी। मंगलवार को उन्होंने अपनी नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस (पीएलसी) की घोषणा कर दी। अमरिंदर पहले ही कह चुके हैं कि वे पंजाब में सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। इसके लिए पहले किसान आंदोलन का हल निकलवाएंगे। उसके बाद भाजपा और अकाली दल के बागी नेताओं से गठजोड़ करेंगे। हालांकि, कांग्रेस ने कैप्टन को मनाने की कोशिश भी की थी लेकिन वे नहीं माने।

अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिद्धू को पंजाब कांग्रेस प्रधान बनाने पर भी बड़े सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि मेरे और पंजाब के सभी सांसदों के विरोध के बावजूद सिद्धू को जिम्मेदारी दी गई। उन्होंने सिद्धू को पाक परस्त करार देते हुए कहा कि उन्होंने सार्वजनिक तौर पर पाकिस्तान के आर्मी चीफ और प्रधानमंत्री इमरान खान को गले लगाया। यह दोनों ही भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए जिम्मेदार हैं।
सिद्धू ने मेरा सार्वजनिक अपमान किया
कैप्टन ने कहा कि सिद्धू ने मुझे लगातार निजी और सार्वजनिक तौर पर बेइज्जत किया। मैं उनके पिता की उम्र का था, इसके बावजूद वह मेरे खिलाफ बयानबाजी करते रहे। सिद्धू के खिलाफ कोई कार्रवाई करने के बजाय राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने सिद्धू का समर्थन किया। उन्होंने हरीश रावत पर भी हमला किया।

Related Articles

Back to top button
Close